Yojana Labh

www.yojanalabh.com/

Keet Rog Niyantran Yojana 2023 जानिए क्या है खास इस योजना में (कीट रोग नियंत्रण)

केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा किसानों की समस्याओं का समाधान करने के लिए विभिन्न प्रकार की योजनाएं चलाई जाती है। और इन योजनाओं में कीट रोग नियंत्रण योजना (Keet Rog Niyantran Yojana) एक मुख्य योजना है। जिसे उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा वर्ष 2017-18 से लेकर वर्ष 2021-22 तक के लिए संचालित किया गया था। जिसके माध्यम से किसानों की फसलों को कीट रोग और खरपतवार से बचाने के लिए कीटनाशक और कृषि उपकरण पर सब्सिडी उपलब्ध कराई जाती थी। कीट रोग नियंत्रण योजना के माध्यम से राज्य के किसान अधिक लाभान्वित हुए थे। किसानों की उत्सुकता को देखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कीट रोग नियंत्रण योजना को फिर से 5 वर्षों के लिए संचालित करने के प्रस्ताव पर मंजूरी दे दी गई है। आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से Keet Rog Niyantran Yojana से संबंधित संपूर्ण जानकारी उपलब्ध कराएंगे। ताकि आप इस योजना से जुड़ी सभी जानकारी प्राप्त कर इसका लाभ प्राप्त कर सकें। इसके लिए आपको यह आर्टिकल ध्यानपूर्वक अंत तक पढ़ना होगा।

Keet Rog Niyantran Yojana 2023 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा राज्य के किसानों को कीटनाशको और फसलों पर कीटनाशक का छिड़काव करने वाली मशीनों पर अनुदान देने के लिए कीट रोग नियंत्रण योजना को शुरू किया था। राज्य सरकार द्वारा Keet Rog Niyantran Yojana वित्तीय वर्ष 2017-18 से 2021-22 तक के लिए संचालित की गई थी। जिससे राज्य के 11,58321 किसान लाभान्वित हुए। राज्य सरकार द्वारा इस योजना को फिर से 5 वर्ष तक के लिए लागू कर दिया गया है। यानी कीट रोग नियंत्रण योजना को वर्ष 2022-23 से वर्ष 2026-27 तक संचालित किया जाएगा।

कीट रोग नियंत्रण योजना को फिर से लागू करने की मंजूरी 6 सितंबर को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल की बैठक में मंजूरी प्रदान की है। Keet Rog Niyantran Yojana के माध्यम से फसलों में हर साल खरपतवार के कारण होने वाली 15 से 20% क्षति फसल लोगों से 26% क्षति और कीटों से 20% होने वाले नुकसान से बचा जा सकेगा। और इससे किसानों की फसल में भी वृद्धि होगी।

सौभाग्य योजना 

Keet Rog Niyantran Yojana

Key Highlights Of Keet Rog Niyantran Yojana 2023 

योजना का नामकीट रोग नियंत्रण योजना  
शुरू की गईउत्तर प्रदेश सरकार द्वारा  
विभागकृषि विभाग उत्तर प्रदेश  
उद्देश्यकीटनाशकों पर और कीटनाशक छिड़काव करने वाली मशीनों पर सब्सिडी प्रदान करना
लाभार्थीउत्तर प्रदेश के किसान  
श्रेणीउत्तर प्रदेश सरकारी योजनाएं  
बजट राशि19257.75 करोड़ रूपए (5 वर्षों मे)  
राज्यउत्तर प्रदेश  
साल2023  

5 वर्षों में 19257.75 करोड़ रुपए खर्च करेगी उत्तर प्रदेश सरकार

कीट रोग नियंत्रण योजना के संचालन के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा 5 वर्ष तक यानी वर्ष 2022- 23 से लेकर वर्ष 2026-27 तक 19257.75 करोड़ रूपए खर्च किए जाएंगे। यूपी सरकार द्वारा वर्ष 2017-18 से लेकर वर्ष 2021-22 तक कीट रोग नियंत्रण योजना के अंतर्गत 11,58321 किसानों को लाभान्वित किया गया है। और वित्तीय वर्ष 2022-23 में इस योजना के तहत 34.17 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। फिर से कीट रोग नियंत्रण योजना के माध्यम से राज्य के लाखों किसानों को विभिन्न कार्य मदो पर लाभ प्राप्त कराए जाएगे। इससे किसानों की आय में वृद्धि होगी।

जैविक दवाइयों पर किसानों को मिलेगा 75% अनुदान

कीट रोग नियंत्रण योजना के तहत राज्य के किसानों को सरकार द्वारा कीटनाशक और कृषि उपकरण उपलब्ध कराए जाएंगे। और इसके अलावा किसानों को सरकार द्वारा खाद्यान्न उत्पादकों के लिए बायोपेस्टिसाइड्स तथा बायोएजेंट्स को 75% अनुदान पर उपलब्ध कराए जाएंगे। इस योजना के माध्यम से राज्य में खरपतवार/कीट/रोग के नियंत्रण के लिए एकीकृत नाशजीव प्रबंधक प्रणाली को बढ़ावा दिया जा रहा है। जिस के तहत राज्य में कृषि विभाग द्वारा 09 आईपीएम प्रयोगशालाओं की स्थापना की गई है। जिनमें बायो पेस्टिसाइड्स जैसे न्यूवेरिया वैसियाना, एन.पी.वी और बायोएजेंट्स जैसे ट्राईकोग्रामा कार्ड का उत्पादन किया जा रहा है।

 खेत तालाब योजना

किसानों को 50% अनुदान पर उपलब्ध कराए जाएंगे रसायनिक दवाइयां और स्प्रेयर

कीट रोग नियंत्रण योजना के तहत राज्य के लघु एवं सीमांत किसानों को खरपतवार/कीट/रोग के नियंत्रण के लिए कृषि रसायनिक पर 50% अनुदान उपलब्ध कराया जाएगा। सरकार द्वारा वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए किसानों को 1.95 लाख हेक्टेयर भूमि क्षेत्रफल के लिए अनुदान पर कृषि रक्षा रसायन प्रदान कीए जाएंगे। और किसानों को इन रसायनों को फसलों पर छिड़कने के लिए नेपसेप स्प्रेयर, पावर स्प्रेयर आदि जैसे यंत्रों पर भी 50% सब्सिडी दी जाएगी। इसके अलावा किसानों को अपने अनाज को सुरक्षित रखने के लिए विगत वर्षों में 2,3 और 5 क्विंटल के भंडार के साधन भी 50 फ़ीसदी अनुदान पर उपलब्ध कराए जाएंगे। Keet Rog Niyantran Yojana के तहत साल 2022-23 में किसानों को 6000 कृषि रक्षा यंत्र उपलब्ध कराए जाएंगे। राज्य सरकार द्वारा कीट रोग नियंत्रण योजना के माध्यम से 2022 से लेकर 2027 तक सरकार द्वारा 41 लाख 42 हजार किसान को कवर आच्छादित किए जाएंगे।

कीट रोग नियंत्रण योजना के लाभ एवं विशेषताएं

  • उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कीट रोग नियंत्रण योजना को वर्ष 2022-23 से लेकर वर्ष 2026-27 तक के लिए संचालित किया गया है।
  • राज्य के लघु एवं सीमांत किसानों को खरपतवार/कीट/रोग के नियंत्रण के लिए कृषि रसायनिक पर 50% अनुदान उपलब्ध कराया जाएगा।
  • उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा पहले कीट रोग नियंत्रण योजना को 2017-18 से लेकर वर्ष 2021-22 तक के लिए संचालित की गई थी।
  • इस योजना के अंतर्गत साल 2017-18 से लेकर 2021-22 तक 11,58321 किसानों को लाभान्वित किया गया है।
  • अब सरकार द्वारा यह योजना वित्तीय वर्ष 2022-23 से लेकर वर्ष 2026-27 तक के लिए संचालित की जाएगी।
  • कीट रोग नियंत्रण योजना के तहत सरकार द्वारा 5 वर्षों में 19257.75 करोड़ रुपए खर्च कीए जाएंगे।
  • Keet Rog Niyantran Yojana के माध्यम से खाद्यान्न उत्पादन के लिए बायो पेस्टिसाइड्स एवं बायोएजेंट्स पर 75% सब्सिडी उपलब्ध कराई जाएगी।
  • कीट रोग नियंत्रण योजना के तहत साल 2022-23 में किसानों को 6000 कृषि रक्षा यंत्र उपलब्ध कराए जाएंगे।
  • वर्ष 2022-23 में कीट रोग नियंत्रण योजना पर 34.17 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे।
  • राज्य के लाखों किसानों को दोबारा से इस योजना के माध्यम से अलग-अलग कार्य मदो पर लाभ प्राप्त कराए जाएगे।  
  • कीट रोग नियंत्रण योजना के माध्यम से 2022 से लेकर 2027 तक सरकार द्वारा 41 लाख 42 हजार किसान को राज्य सरकार द्वारा कवर किया जाएगा।
  • उत्तर प्रदेश राज्य में कृषि विभाग द्वारा 09 आईपीएम प्रयोगशाला स्थापित की गई है।
  • सरकार द्वारा वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए किसानों को 1.95 लाख हेक्टेयर भूमि क्षेत्रफल के लिए अनुदान पर कृषि रक्षा रसायन प्रदान कीए जाएंगे।
  • किसानों की फसलों में सलाना खरपतवार से होने वाली 15 से 20% क्षति , कीटों से 20% और फसल रोगों से 26% होने वाली क्षति को कीट रोग नियंत्रण के माध्यम से बचाया जा सकेगा।

Keet Rog Niyantran Yojana के लिए पात्रता

  • आवेदक को उत्तर प्रदेश का मूल निवासी होना चाहिए।
  • इस योजना के लिए केवल किसान ही आवेदन करने के पात्र होंगे।
  • कीट रोग नियंत्रण योजना के लिए उत्तर प्रदेश के सभी लघु एवं सीमांत किसान पात्र होंगे। 

कीट रोग नियंत्रण योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • जमीन के कागजात
  • पासपोर्ट साइज फोटो

Keet Rog Niyantran Yojana के तहत आवेदन करने की प्रक्रिया

  • कीट रोग नियंत्रण योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए सबसे पहले किसान को अपने जिले के कृषि विभाग में जाना होगा।
  • कृषि विभाग में जाने के बाद आपको विभाग के संबंधित अधिकारी से कीट रोग नियंत्रण योजना का आवेदन पत्र प्राप्त करना होगा।
  • आवेदन पत्र प्राप्त करने के बाद आपको इस पत्र में पूछी गई सभी आवश्यक जानकारी को ध्यानपूर्वक दर्ज करना होगा।
  • और आवश्यक दस्तावेजों को भी आवेदन पत्र के साथ संलग्न करना होगा।
  • आपको यह आवेदन पत्र कृषि विभाग में ही जमा करना होगा।
  • इसके बाद विभाग द्वारा आवेदन पत्र की जांच की जाएगी।
  • यदि आपको इस योजना के तहत योग्य माना जाता है। तो आपको इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा।

Leave a Comment