Yojana Labh

www.yojanalabh.com/

|Haryana| मेरा पानी मेरी विरासत योजना 2023: ऑनलाइन आवेदन | लाभ व पात्रता

Mera Paani Meri Virasat Yojana:- गुप्त ज़ोन में शामिल क्षेत्रों के किसानों को धान की खेती के स्थान पर अन्य फसलों की बुवाई करने हेतु किसानों को प्रोत्साहित करने के लिए हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर जी के द्वारा मेरा पानी मेरी विरासत योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के अंतर्गत यदि किसान धान की खेती छोड़कर किसी अन्य विकल्प की फसलों की बुवाई करते हैं तो उन्हें प्रोत्साहन राशि मुहैया कराई जाएगी। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से मेरा पानी मेरी विरासत योजना 2023 से जुड़े संपूर्ण जानकारी जैसे उद्देश्य लाभ विशेषताएं पात्रता दस्तावेज एवं आवेदन की प्रक्रिया प्रदान करने जा रहे हैं। Mera Paani Meri Virasat Yojana से संबंधित सभी जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे इस लेख को विस्तार पूर्वक पढें।

Table of Contents

Mera Paani Meri Virasat Yojana 2023

इस योजना की शुरुआत हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर जी के द्वारा डार्क जोन के क्षेत्रों मैं किसानों को धान की खेती छोड़ने और विकल्प फसलों की बुआई करने के लिए 7,000 रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। इस योजना को आरंभ करने का मुख्य लक्ष्य है कि खेती करते समय पानी का ज्यादा उपयोग ना होता के आगे किसानों को पानी की किल्लत का सामना ना करना पड़े। Mera Paani Meri Virasat Yojana के माध्यम से जल के संरक्षण को बढ़ावा प्रदान किया जाएगा। सरकार द्वारा किसानों को धान के जगह मक्का अरहर मूंग उड़द तिल कपास एवं सब्जी की खेती के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा।

  • हरियाणा मेरा पानी मेरी विरासत योजना के अंतर्गत आर्थिक सहायता किसानों को प्रदान करने का मुख्य लक्ष्य है कि उन्हें धान की खेती छोड़ने में किसी प्रकार की कठिनाई का सामना ना करना पड़े।
  • इस योजना के पहले चरण में 19 ब्लॉकों को शामिल किया गया है।
  • यदि आप भी मेरा पानी मेरी विरासत योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं उन्हें जल्द से जल्द मेरा पानी मेरी विरासत की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आवेदन करना होगा।

मेरा पानी मेरी विरासत के मुख्य तथ्य

इस योजना के तहत मुख्य तथ्य कुछ इस प्रकार हैं:-

योजना का नाममेरा पानी मेरी विरासत योजना 2023
किसके द्वारा शुरू की गईमुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर जी के द्वारा
योजना के लाभार्थीराज्य के किसान
योजना का उद्देश्यप्रोत्साहन राशि प्रदान करना
योजना का लाभपानी की बचत होगी
प्रोत्साहन राशि7,000 रुपये
धान की फसल के स्थान परमक्का, अरहर, मूंग, उड़द, तिल, कपास
ईमेल आईडीagriharyana2009@gmail.com/ psfcagrihry@gmail.com
टेलीफोन नंबर0172-2571553/ 2571544
फेक्स0172-2563242
आवेदन की प्रक्रियाऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइटhttp://117.240.196.237/
About Mera Paani Meri Virasat Yojana

Mera Paani Meri Virasat Yojana का उद्देश्य

जैसे कि हम सभी जानते हैं कि धान की फसलें उगाने पर खेती में अधिक से अधिक पानी का उपयोग होता है और ऐसे में लोगों को पानी की किल्लत होने लगती है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर जी के द्वारा मेरा पानी मेरी विरासत योजना की शुरुआत की गई है। इस योजना के माध्यम से धान की फसलों के स्थान पर अन्य विकल्पित फसलों की बुवाई की जाएगी। इस योजना को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य है कि ऐसी जगहों पर पानी की कमी को दूर किया जा सके। सरकार द्वारा राज्य के किसानों को अन्य धान की फसल उगाने पर 7,000 रुपये की धनराशि प्रोत्साहन राशि के रूप में मुहैया कराई जाएगी।

  • इस योजना के माध्यम से राज्य मैं जल के संरक्षण को बढ़ावा प्रदान किया जाएगा।
  • Mera Paani Meri Virasat Yojana के माध्यम से अब राज्य के किसान प्रोत्साहन राशि प्राप्त करके फसलों की बुआई करने में सक्षम रहेंगे।
  • इस योजना के तहत राज्य के किसानों को फसल विविधीकरण अपनाने के लिए प्रेरित किया जाएगा।

हरियाणा के कुरुक्षेत्र जिले में किसानों को जारी की गई राशि

मेरा पानी मेरी विरासत योजना के तहत हरियाणा के कुरुक्षेत्र के पंजीकरण कराने वाले किसानों को लगभग 98 लाख रुपये की राशि जारी की गई। सरकार द्वारा बताया गया कि इस योजना के तहत पंजीकरण का सत्यापन होने के बाद लगभग 1931 एकड़ के लिए 368 किसानों को प्रोत्साहन राशि जारी की गई है। जब के किसानों ने 3766 एकड़ भूमि पर पंजीकरण करवाया है। सरकार द्वारा यह भी बताया गया कि इस योजना के माध्यम से किसानों को धान की फसल के बजाय अरहर मक्का कपास उड़द मूंग तिल व सब्जियों की खेती करने पर प्रोत्साहित किया जाएगा।

रोहतक के 822 किसानों को किया गया लाभान्वित

जैसे कि हम सभी जानते हैं कि हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर जी के द्वारा किसानों को धान की खेती छोड़ने एवं जल के संरक्षण को बढ़ावा प्रदान करने हेतु मेरा पानी मेरी विरासत योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से किसानों को धान की खेती छोड़ने पर आर्थिक सहायता मुहैया कराई जाएगी। इस योजना के माध्यम से धान की फसल छोड़कर अन्य फसल लगाने के लिए विभिन्न किसानों को सम्मान किया गया है। कृषि एवं किसान कल्याण विभाग की ओर से अब तक रोहतक के 822 किसानों को इस योजना से सम्मानित किया गया है। इन सभी किसानों के खातों में लाभ संबंधित राशि पहुंचाई गई है।

4449 किसानों ने किया मेरा पानी मेरी विरासत योजना में पंजीकरण

जैसे कि हम सभी जानते हैं कि हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर जी के द्वारा किसानों को धान की जगह मक्का कपास मूंग अरहर उड़द सोयाबीन मूंगफली फसलों की गाय के लिए प्रोत्साहित करने हेतु मेरा पानी मेरी विरासत योजना का शुभारंभ किया गया है। मेरा पानी मेरी विरासत योजना के अंतर्गत धान की खेती छोड़ अन्य फसलों की खेती करने पर प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी। सूत्रों के अनुसार पता चला है कि कैथल जिले के लगभग 4449 किसानों ने Haryana Mera Paani Meri Virasat Yojana के अंतर्गत आवेदन प्राप्त किया है। इन किसानों को धान की फसल त्यागने पर अन्य फसलों की उगाई पर 7000 रुपये की धनराशि प्रोत्साहन के रूप में प्रदान की जाएगी।

  • प्रति वर्ष किसानों को धान की फसल छोड़ने पर रुपए का रकबा बढ़ा कर प्रदान किया जाता है।
  • इसके माध्यम से जिले में भूजल स्तर में बढ़ोतरी होती है।

31 जुलाई तक कर सकते हैं आवेदन

जैसे कि हम सभी जानते हैं कि हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर जी के द्वारा डार्क जोन के क्षेत्र किसानों को धान की खेती छोड़ने और अन्य फसलों की बुवाई करने पर 7000 रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। मेरा पानी मेरी विरासत योजना को आरंभ करने का मुख्य लक्ष्य है कि खेती करते समय पानी का ज्यादा उपयोग ना हो और पानी की बचत की जा सके। यदि आप ही मेरा पानी मेरी विरासत योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो आपको 31 जुलाई 2021 से पहले पहले इस योजना में आवेदन करना होगा। कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के द्वारा घोषणा की गई है कि इस योजना का लाभ उठाने के लिए किसानों को 31 जुलाई 2021 से पहले पहले ही रजिस्ट्रेशन कराना होगा तभी उन किसानों को इस योजना से लाभान्वित किया जाएगा।

Mera Paani Meri Virasat Yojana

मेरा पानी मेरी विरासत के तहत शामिल क्षेत्र

हरियाणा सरकार द्वारा शुरू की गई मेरा पानी मेरी विरासत के अंतर्गत क्षेत्र कुछ इस प्रकार हैं:-

  • रतिया
  • गुहला
  • सीवन
  • शाहजहानाबाद
  • बाबैन
  • इस्माईलाबाद
  • सिरसा
  • पीपला

हरियाणा मेरा पानी मेरी विरासत के अंतर्गत प्रोत्साहन

इस योजना के तहत प्रोत्साहन कुछ इस प्रकार है:-

  • मेरा पानी मेरी विरासत के अंतर्गत अगर किसान खेती की जमीन के 50% हिस्से पर धान की जगह मक्का कपास बाजरा दलहन सब्जी आदि की फसल उगाता है तो ऐसे में उसे 7,000 रुपये की धनराशि प्रदान की जाएगी।
  • इस राशि को प्राप्त करने के लिए किसान को क्षेत्रफल में 50% या 50% से अधिक फसल विविधीकरण करना होगा।
  • यदि इस क्षेत्रफल विविधीकरण के अंतर्गत फसल का बीमा किसानों ने करवाया है तो उस हिस्से की राशि का भुगतान सरकार द्वारा किया जाएगा।
  • फसल विविधीकरण के लिए सिंचाई यंत्र खेत में लगाए जाने पर किसानों को कुल लागत की जीएसटी का भुगतान करना होगा।
  • इस योजना के अंतर्गत किसानों को मक्का बिजाई मशीन पर 40% का अनुदान प्रदान किया जाएगा।
  • मक्का बिजाई मशीन प्राप्त करने पर किसानों को का की फसल पर उचित मूल्य का भुगतान किया जाएगा।
  • मेरा पानी मेरी विरासत योजना के अंतर्गत उगाई गई फसल सरकार द्वारा किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदी जाएगी।
  • वह सभी किसान जिन्होंने धान की फसल की जगह अन्य फसलों को उगाया है उन्हें 7,000 रुपये प्रति एकड़ की दर से भुगतान किया जाएगा।
  • अन्य फसलों को उगाने पर किसानों को बागवानी विभाग द्वारा संचालित की जाने वाली अन्य योजनाओं के अनुसार अनुदान राशि का भुगतान किया जाएगा।
  • वह सभी खंड जिनका भू जल स्तर 35 मीटर गहराई है या उससे अधिक है और ऐसे जगहों पर फिल्म किसान कंपनी का उपयोग कर फसल को उगाते हैं तो ऐसी स्थिति में ग्राम पंचायत को 7,000 रुपये प्रति एकड़ का भुगतान करना होगा।
मेरा पानी मेरी विरासत योजना

Mera Paani Meri Virasat Yojana Features

इस योजना के तहत विशेषताएं कुछ इस प्रकार हैं:-

  • इस योजना की शुरुआत हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर जी के द्वारा किसानों को प्रोत्साहित करने के लिए की गई।
  • Mera Paani Meri Virasat Yojana के अंतर्गत किसानों को धान के जगह अन्य फसलों की खेती करने पर प्रोत्साहन राशि मुहैया कराई जाएगी।
  • राज्य के वह सभी किसान जो धान के जगह अन्य फसल जैसे मक्का अरहर मूंग उड़द तिल कपास उगाते हैं तो उन्हें 7,000 रुपये की प्रोत्साहन राशि मुहैया कराई जाएगी।
  • इस योजना को आरंभ करने का मुख्य लक्ष्य है के राज्य से पानी की किल्लत को कम किया जाए।
  • मेरा पानी मेरी विरासत योजना के अंतर्गत किसानों को उन जगहों पर धान की खेती करने की अनुमति नहीं प्रदान की जाएगी जहां पिछले वर्ष धान की खेती नहीं हुई है।
  • राज्य के वह सभी ग्राम पंचायत जहां भूजल स्तर 35 मीटर गहरा है वहां धान की खेती नहीं की जाएगी।
  • वह सभी किसान जिनके ट्यूबवेल 50 हॉर्स पावर इलेक्ट्रिक मोटर से चल रही है उनको धान की खेती की अनुमति नहीं प्रदान की जाएगी।
  • यदि कोई किसान ड्रिप इरिगेशन सिस्टम खेत में लगाना चाहता है तो उसे 85% की अनुदान सब्सिडी मुहैया कराई जाएगी।
  • सरकार द्वारा इस योजना के सफलतापूर्वक कार्यान्वयन के लिए एक पोर्टल की शुरूआत की गई है।
  • Mera Paani Meri Virasat Yojana की शुरूआत सरकार द्वारा जल संरक्षण को बढ़ावा देने के लिए की गई है
  • किसानों को धान फसल की खेती छोड़ने पर किसी प्रकार की आर्थिक तंगी का सामना ना करना पड़े इसलिए प्रोत्साहन राशि मुहैया कराई जा रही है।
  • राज्य के सभी किसान जो इस योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त करना चाहते हैं उन्हें जल्द से जल्द इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन करना होगा।

PM Kisan Yojana

हरियाणा मेरा पानी मेरी विरासत के लाभ

इस योजना के तहत लाभ कुछ इस प्रकार हैं:-

  • इस योजना के माध्यम से राज्य के किसानों को धान फसल की बुवाई छोड़ने पर प्रोत्साहन राशि मुहैया कराई जाएगी।
  • सरकार द्वारा धान फसल की बुवाई छोड़कर अरहर मूंग मक्का उड़द तिल कपास और सब्जी की खेती करने पर 7,000 रुपये की धनराशि किसानों को प्रदान की जाएगी।
  • साथ ही साथ किसानों को माइक्रो इरीगेशन और ड्रिप इरिगेशन सिस्टम लगवाने के लिए 80 फ़ीसदी सब्सिडी भी मुहैया कराई जाएगी।
  • सरकार द्वारा किसानों को धान की फसल को छोड़कर मक्का अरहर मूंग उड़द तिल कपास और सब्जी की खेती करने के निर्देश दिए गए हैं।
  • इन फसलों की उगाही करने पर सरकार किसानोंसे खरीद समर्थन मूल्य पर फसलों को खरीदा जाएगा।
  • मेरा पानी मेरी विरासत योजना की सफलता पूर्वक कार्यान्वयन के लिए सरकार द्वारा एक पोर्टल की शुरूआत की गई है।
  • इस योजना के माध्यम से राज्य में जल संरक्षण को बढ़ावा दिया जाएगा।
  • राज्य के वह सभी किसान जो इस योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त करना चाहते हैं उन्हें इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आवेदन करना होगा।

मेरा पानी मेरी विरासत के महत्वपूर्ण दस्तावेज

इस योजना के तहत मुख्य दस्तावेज कुछ इस प्रकार हैं:-

  • आधार कार्ड
  • पहचान पत्र
  • कृषि योग्य भूमि के कागजात
  • बैंक अकाउंट पासबुक
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर

Mera Paani Meri Virasat Yojana ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया

राज्य के सभी इच्छुक किसान जो इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना है

Mera Paani Meri Virasat Yojana
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इस होम पेज पर आपको New Registration के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको अपना आधार नंबर दर्ज करना होगा।
  • आधार नंबर दर्ज करने के बाद आपको Next के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको फार्मर डिटेल्स दर्ज करने होंगे।
  • सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको Submit के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप मेरा पानी मेरी विरासत योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकते हैं।

फसल विविधीकरण के लिए पंजीकरण करने की प्रक्रिया

वह व्यक्ति जो फसल विविधीकरण के लिए पंजीकरण करना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना है:-

  • फसल विविधीकरण के लिए पंजीकरण करने हेतु आपको कृषि एवं किसान विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इस होम पेज पर आपको फसल विविधीकरण के लिए पंजीकरण करें के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको अपना आधार नंबर दर्ज करना है।
  • आधार नंबर दर्ज करने के बाद आपको Get OTP के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • क्लिक करने के बाद आप के रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी प्राप्त होगा
  • आपको इस ओटीपी को खाली बॉक्स में दर्ज करना है।
  • ओटीपी दर्ज करने के बाद आपको Submit के बटन पर क्लिक करना है।
  • इस प्रकार आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको फार्मर डिटेल टोटल लैंड हैंडलिंग डिटेल और क्रॉप डिटेल दर्ज करनी है।
  • संपूर्ण जानकारी दर्ज करने के बाद आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना है।
  • इस प्रकार आप फसल विविधीकरण के लिए पंजीकरण कर पाएंगे।

बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया

वह व्यक्ति जो बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में आवेदन करना चाहते हैं उन्हें निम्नलिखित चरणों का पालन करना है:-

  • बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में आवेदन करने हेतु आपको कृषि एवं किसान विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इस होम पेज पर आपको बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के लिए विकल्प के विकल्प पर क्लिक करना है।
Mera Paani Meri Virasat Yojana
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने आवेदन पत्र खुलकर आएगा।
  • इस पत्र में पूछी गई सभी जानकारी आपको दर्ज करनी है जैसे जिल,, ब्लाक, तहसील, किसान का विवरण, टोटल लैंड होल्डिंग, क्रॉप डिटेल आदि
  • सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको Submit के बटन पर क्लिक करना है।
  • इस प्रकार आप बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के लिए आवेदन कर सकते हैं।

रिचार्ज शाफ्ट के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया

वह व्यक्ति जो रिचार्ज शाफ्ट के लिए आवेदन करना चाहते हैं उन्हें निम्नलिखित चरणों का पालन करना है:-

  • रिचार्ज शाफ्ट के लिए आवेदन करने हेतु आपको कृषि एवं किसान विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इस होम पेज पर आपको रिचार्ज शाफ्ट के लिए आवेदन करें के विकल्प पर क्लिक करना है।
रिचार्ज शाफ्ट के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने आवेदन पत्र खुलकर आएगा।
  • इस पत्र में पूछी गई सभी जानकारी आपको ध्यान पूर्वक दर्ज करनी है जैसे रिचार्ज सॉफ्ट के निर्माण का प्रकार, आधार नंबर, किसान का नाम, पिता का नाम, मोबाइल नंबर, जिला, खंड, गांव, खेत का विवरण।
  • सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको Save के बटन पर क्लिक करना है।
  • इस प्रकार आप रिचार्ज शाफ्ट के लिए आवेदन कर सकते हैं।

विभागीय लोगिन करने की प्रक्रिया

वह व्यक्ति जो विभागीय लॉगइन करना चाहते हैं उन्हें निम्नलिखित चरणों का पालन करना है:-

  • विभागीय लोगिन करने हेतु आपको कृषि एवं किसान विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इस होम पेज पर आपको विभागीय प्रवेश के विकल्प पर क्लिक करना है।
विभागीय लोगिन करने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर पूछी गई सभी जानकारी आपको दर्ज करनी है जैसे Username, Password तथा Captcha Code
  • सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको Login के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • इस प्रकार आप लॉग इन कर सकते हैं।

मेरा पानी मेरी विरासत के विस्तृत दिशा-निर्देश देखने की प्रक्रिया

वह व्यक्ति जो दिशा निर्देश देखना चाहते हैं उन्हें निम्नलिखित चरणों का पालन करना है:-

  • दिशा निर्देश देखने हेतु आपको आपको कृषि एवं किसान विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इस होम पेज पर आपको योजना का विस्तृत दिशा-निर्देश के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक पॉप अप खुलकर आएगा।
मेरा पानी मेरी विरासत के विस्तृत दिशा-निर्देश देखने की प्रक्रिया
  • इस पॉप अप में आपको संबंधित दिशा-निर्देश प्राप्त हो जाएंगे।

संपर्क करें

इस योजना के तहत संपर्क विवरण कुछ इस प्रकार है:-

  • Krishi Bhawan, Sector 21, Panchkula
  • Email ID- agriharyana2009@gmail.com
  • Tel No- 01722571553/ 2571544
  • Fax- 01722563242
  • Kisan Call Centre- 18001801551

Leave a Comment